February 17, 2019

Image result for siddhivinayak mandir mumbai

Siddhivinayak Mandir Mumbai | Shree siddhivinayak mandir mumbai
सिद्धि विनायक मंदिर मुम्बई में स्थित है। भगवान गणेश जी का यह मंदिर बहुत ही विशाल है और इसकी बहुत ही मान्यता है। यह मुम्बई के प्रभादेवी क्षेत्र में स्थित है। यह एक ऐसा मंदिर है जहां भक्तों की भीड़ हमेशा लगी रहती है। इसे 1801 में लक्ष्मण विट्ठू व देयोबाई पाटिल ने बनाया था। इसकी भव्यता देखते ही बनती है, एक बार जो भक्त आता है वह यहां बार-बार आता है।
गणेश चतुर्थी के उत्सव पर तो यहां मानो मेला ही लगा रहता है। लाल बादशाह गणेश जी के दर्शनों के लिए फिल्म स्टार आते रहते हैं। किसी ने अपनी नई फिल्म का उद्घटन करना हो तो वे यहां गणपति जी का आशीर्वाद लेने के लिए जरूर आते हैं। इस मंदिर की अंदरूनी छत व दीवार को सोने के पत्तरों से बनाया गया है। मंदिर के विशाल दरवाजे लकड़ी के बने हैं जिसमें अष्टविनायक की आकृति बनी है। दुनिया की प्रसिद्ध कम्पनी एपल के सीईओ टिम कुक की भगवान गणेश में बहुत ही श्रद्धा है।

Image result for siddhivinayak mandir mumbai

वे जब भी भारत आते हैं तो मंदिर में आकर गणपति जी का आशीर्वाद जरूर लेते रहते हैं। अमीर भक्तों के दान देने से यह मंदिर मुम्बई का सबसे अमीर मंदिर बन गया है। विदेशों से भी भक्त यहां आते हैं और गणपति जी का अशीर्वाद लेते हैं। अरबों रुपए के चढ़ावे के कारण सरकार ने इस मंदिर में ट्रस्ट बना दिया है जो चढ़ावे के सदुपयोग व प्रबंधों की तरफ ध्यान देता है।

पहले शुरु में यह मंदिर छोटा था लेकिन जैसे-जैसे इसकी मान्यता बढ़ती गई मंदिर विशाल होता गया। मंदिर में फिल्म अभिनेता गोविंदा, शिल्पा शैट्टी, अमिताभ बच्चन, अनिल कपूर, स्व. श्री देवी, डेविड धवन, ऋषि कपूर का सारा परिवार आता रहता है। मंदिर की प्रसिद्धि दिनो-दिन बढ़ती ही जा रही है।

Call us: +91-98726-65620
E-Mail us: info@bhrigupandit.com
Website: http://www.bhrigupandit.com
FB: https://www.facebook.com/astrologer.bhrigu/notifications/
Pinterest: https://in.pinterest.com/bhrigupandit588/
Twitter: https://twitter.com/bhrigupandit588

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>